रायपुर : भारत अतंर्राष्ट्रीय व्यापार मेला : ऑनलाईन व सोशल मीडिया के माध्यम से छत्तीसगढ़ के उद्यमी कर रहे हैं अपनें उत्पादों का विक्रय

रायपुर : भारत अतंर्राष्ट्रीय व्यापार मेला : ऑनलाईन व सोशल मीडिया के माध्यम से छत्तीसगढ़ के उद्यमी कर रहे हैं अपनें उत्पादों का विक्रय रायपुर, 23 नवम्ब

रायपुर : विशेष लेख : छत्तीसगढ़ में ग्रामोेद्योग से रोजगार
रायपुर : मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम : साढ़े तीन माह में 56 ग्रामोद्योग इकाईयों के लिए 18 लाख रूपए का अनुदान

रायपुर : भारत अतंर्राष्ट्रीय व्यापार मेला : ऑनलाईन व सोशल मीडिया के माध्यम से छत्तीसगढ़ के उद्यमी कर रहे हैं अपनें उत्पादों का विक्रय

रायपुर, 23 नवम्बर 2017

भारत अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेंले में छत्तीसगढ़ के लघु उद्यमियों व निर्माताओं को अपने उत्पादों के विक्रय के लिए एक नया मंच प्राप्त हुआ हैं। वे ऑनलाईन अथवा सोशल मीडिया के विभिन्न माध्यमों से जुडकर अपनें उत्पादों का विक्रय कर रहे है। नई दिल्ली के प्रगति मैदान के हैंगर एक में छत्तीसगढ़ का मण्डप मेले में आने वाले अथवा सोशल मीडिया के माध्यम से उत्पादो को खरीदने व बेचने वालो के लिए एक विशेष आर्कषण का केन्द्र बना हुआ हैं।

मेले में छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले से आये कोसा से तैयार विभिन्न प्रकार के वस्त्रों के विक्रेता श्री मनोज देवांगन बताते हैं कि , उनके जैसे छत्तीसगढ़  के अनेक लद्यु विक्रेताओं ने ऑनलाईन अथवा सोशल मीडिया के द्वारा अपने व्यावसाय को तेजी से फैला रहे हैं। उन्होनें बताया कि नई दिल्ली के ही बहुत सारे खरीदारों ने अलग-अलग नामों से वाट्सअप ग्रुप बनाये हैं। जिसमें अलग-अलग क्षेत्रो से लोग जुडे़ हुए हैं। उन्होने बताया कि सोशल मीडिया के माध्यम से जुडे़ हुए खरीदारो द्वारा हमसे उत्पादो के मूल्य व सूची मांगी जाती है, इन खरीदारांे द्वारा हमारे उत्पादों की फोटो मूल्य सहित अपने गु्रप में ग्राहकांे को भेजते हैं। ग्राहको द्वारा उत्पादो को पसंद करने पर हमें उत्पादो को संबंधित पते पर डिलिवरी के लिए कहा जाता हैं। हमें एक स्थान पर ही बडी संख्या मंे अपने उत्पादो को बेचने के लिए एक मंच मिलता हैं। और सोशल मीडिया से जुडे खरीदारो को इसके एवज में छोटा सा कमिशन भी प्राप्त होता हैं।
ई-कॉर्मस के माध्यम से व्यवसाय करने वाली छत्तीसगढ़ के भिलाई निवासी स्नेहा बताती हैं कि, ऑनलाईन व्यवसाय के माध्यम से हम सीधे निर्माताओं से संपर्क कर सकते हैं। इस माध्यम के द्वारा उत्पादो का चयन करने के लिए हर विक्रेता के पास नहीं जाना पड़ता। मैं बहुत सारे उत्पादों को एक छत के नीचे देख सकती हू और उन्हे ऑडर भी कर सकती हूं। ऑनलाईन अथवा सोशल मीडिया के माध्यम से व्यवसाय करने की इस सुविधा में विक्रेताओं के साथ-साथ बहुत सारे उत्पादो को चुनने की प्रकिया को असान व लागत प्रभावी बना दिया हैं। वे कहती हैं कि इनके कारोबार में छत्तीसगढ़ के कोसा रेशम साड़ी की बहुत बडी मांग हैं।

क्रमांक-3647/सीआईसी

 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0