रायपुर : मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम : साढ़े तीन माह में 56 ग्रामोद्योग इकाईयों के लिए 18 लाख रूपए का अनुदान

रायपुर : मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम : साढ़े तीन माह में 56 ग्रामोद्योग इकाईयों के लिए 18 लाख रूपए का अनुदान रायपुर, 08 दिसम्बर 2017 छत्तीसगढ़

रायपुर : भारत अतंर्राष्ट्रीय व्यापार मेला : ऑनलाईन व सोशल मीडिया के माध्यम से छत्तीसगढ़ के उद्यमी कर रहे हैं अपनें उत्पादों का विक्रय
रायपुर : विशेष लेख : छत्तीसगढ़ में ग्रामोेद्योग से रोजगार

रायपुर : मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम : साढ़े तीन माह में 56 ग्रामोद्योग इकाईयों के लिए 18 लाख रूपए का अनुदान

रायपुर, 08 दिसम्बर 2017

छत्तीसगढ़ खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड की मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत साढ़े तीन माह में 56 ग्रामोद्योग इकाईयों के लिए 18 लाख रूपए का अनुदान जारी किया गया है, इससे 336 लोगों को स्वरोजगार का अवसर मिला है। इस योजना की शुरूआत रमन सरकार के 5000 दिन सफलतापूर्वक पूर्ण होने के और स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 15 अगस्त को किया गया। बोर्ड के अधिकारियों ने आज यहां बताया कि मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत ग्रामीण क्षेत्रों के कम पढ़े-लिखे युवाओं को ग्रामोद्योग स्थापना के लिए आकर्षक अनुदान पर बैंकों से ऋण दिलाया जा रहा है। अब तक तीन करोड़ 33 लाख रूपए के 628 ग्रामोद्योगों के लिए अनुदान प्रकरण विभिन्न बैंकों में भेजा गया है। इनमें से 56 इकाईयों के लिए 18 लाख रूपए अनुदान 336 लोगों को दिया जा चुका है। योजना के तहत अगले पांच वर्षो में तीन हजार 664 ग्रामोद्योग इकाईयों के लिए 37 करोड़ 17 लाख रूपए का अनुदान वितरित कर सात हजार 328 लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है।
बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि यह राज्य सरकार की एक बड़ी महत्वपूर्ण योजना है। इसमें स्व-रोजगार के लिए पांचवीं कक्षा तक शिक्षित युवक-युवतियों को अधिकतम एक लाख रूपए और आठवीं कक्षा तक शिक्षित युवक-युवतियों को अधिकतम तीन लाख रूपए का ऋण ग्रामोद्योग शुरू करने के लिए दिया जा रहा है। इस बैंक ऋण में हितग्राही को अपनी ओर से सिर्फ पांच प्रतिशत अंशदान करना होगा, शेष 95 प्रतिशत राशि उन्हें स्थानीय बैंकों से ऋण के रूप में दिया जा रहा है। इस राशि में भी 35 प्रतिशत अनुदान छत्तीसगढ़ खादी और ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा दिया जा रहा है। इस प्रकार मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत चयनित हितग्राही को अपने ऋण का सिर्फ 65 प्रतिशत का भुगतान तीन साल की आसान किश्तों में करना होगा। योजना के तहत ग्रामीण उद्यमी को अपने प्रोडक्ट का पंजीयन छत्तीसगढ़ खादी और ग्रामोद्योग बोर्ड में करवाना होगा। बोर्ड द्वारा उनके पंजीकृत उत्पादों के लिए अपने विभागीय भण्डारों और सरकारी हस्तशिल्प प्रदर्शनियों के माध्यम से बाजार भी दिलाया जाएगा। इस योजना की विस्तृत जानकारी के लिए ग्रामीण युवा अपने जिले के जिला पंचायत कार्यालय स्थित ग्रामोद्योग विभाग के सहायक संचालक से सम्पर्क कर सकते हैं। इसके अलावा राजधानी रायपुर के इंडोर स्टेडियम परिसर स्थित गांधी स्मृति भवन में छत्तीसगढ़ खादी और ग्रामोद्योग बोर्ड के मुख्यालय से सम्पर्क किया जा सकता है। वहां का टेलीफोन नम्बर 0771-2282846 है।

क्रमांक -3862/काशी

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0