HomesikshaNEET UG Entrance exam में हुई गड़बड़ी बांट दिए गए गलत प्रश्न...

NEET UG Entrance exam में हुई गड़बड़ी बांट दिए गए गलत प्रश्न पत्र 6 दिन हो चुके पर नहीं हुई कार्यवाही

Published on

Balod news

NEET UG 2024 Entrance Exam in Balod: छत्‍तीसगढ़ के बालोद जिले में पहली बार नीट की परीक्षा के दौरान छात्र-छात्राओं को दो प्रश्नपत्र बांटने के बाद एक पेपर को रद्द कराए जाने को लेकर अभिभावकों ने स्कूल कैंपस में जमकर हंगामा किया। छत्तीसगढ़ में नीट परीक्षा में नहीं हुआ परीक्षा प्रक्रिया का पालन। प्राचार्य ने मानी गलती कहा गलती हुई, ऊपर वालों के बताए अनुसार किया। उन्होंने जो कहा हमने वही किया।

छत्तीसगढ़ के बालोद जिले में नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट (NEET) नीट में 391 स्टूडेंट्स को गलत प्रश्न पत्र बांटने के मामले में आरोपियों पर 6 दिन बाद भी कोई कार्रवाई

शासकीय आदर्श बालक उच्चतर माध्यमिक शाला प्रभारी अरूण कुमार साहू के मुताबिक कंफ्यूजन में गलत प्रश्न पत्र बंट गया था। साहू के मुताबिक पूरी जानकारी अफसरों को दी गई और उनके निर्देश पर आगे की प्रक्रिया का पालन किया गया।

छात्रों ने इसकी शिकायत राज्यपाल से की है और राष्ट्रपति को पत्र लिखने की बात कही है। छात्रों की मांग है, कि बोनस अंक दिया जाए। नीट परीक्षा मामले में परीक्षार्थियों को इंसाफ नहीं मिलने पर कांग्रेस अब इसे मुद्दा बना रही है। बालोद जिले से कांग्रेस विधायक संगीता सिन्हा ने मामले में कलेक्टर, राजभवन और NTA को पत्र लिखा है। पत्र में छात्रों को बोनस अंक देने और दोषियों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

बैंक से प्रश्नपत्र लाने में हुई गलती



शासकीय आदर्श बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय केंद्र में आत्मानंद विद्यालय के प्राचार्य अरुण साहू ने बताया कि हम अपनी गलती मान रहे हैं कि बच्चों को गलत पेपर दिया गया था। उन्होंने कहा कि बैंक से एग्जाम पेपर लाने में गलती हुई स्टेट बैंक और केनरा बैंक दोनों जगह नीट का एक प्रश्नपत्र रखा गया था। दोनों जगह से प्रश्नपत्र ले गए उसके बाद हम खुद कंफ्यूज हो गए थे।

पहले बच्चों को दूसरा प्रश्न पत्र हल करने कहा गया, फिर हमें लगा कि यह नहीं है तो फिर दूसरा प्रश्न पत्र दिया गया। परीक्षा हाल से निकलने के बाद बच्चों का बुरा हाल है, प्रशासन के ऊपर गंभीर आरोप लगा रहे हैं। वहीं बच्चों ने रोते-रोते बताया की हड्डियां टूट जाती है पढ़ाई करते-करते पैसे खर्च हो जाते हैं सुबह साढ़े तीन बजे तक पढ़ते हैं उसके बाद यहां पर इस तरह का रवैया किया जाता है, जिससे हमारे भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest articles

छत्तीसगढ़ संस्कृत बोर्ड की लापरवाही आई सामने, 10वीं की मेरिट सूची में जिसे बनाया थर्ड टॉपर जो परीक्षा में बैठी ही नहीं

Raipur news छत्तीसगढ़ संस्कृत बोर्ड की 10वीं की परीक्षा में गजब का कारनामा सामने...

Raipur: होटल का कमरा बुक कर युवक ने लगाई फांसी, दरवाजा तोड़कर अंदर घुसी पुलिस तो पंखे पर लटकी मिली लाश

Raipur news राजधानी रायपुर के आजादचौक थानाक्षेत्र के ब्राम्हणपारा स्थित एक लाज के कमरे...

Raipur News: पति की मौत के बाद पत्‍नी के दावे को खारिज करना LIC को पड़ा भारी, अब देना होगा 14 लाख

Raipur news राज्य उपभोक्ता आयोग ने भारतीय जीवन बीमा निगम (Life Insurance Corporation) को...

सीजीएसओएस 2024 (Chhattisgarh State Open School 2024)

छत्तीसगढ़ राज्य ओपन स्कूल (CGSOS) उन छात्रों के लिए है जो किसी कारणवश नियमित...